चूहे और शेर की दोस्ती

घने जंगल में भूख से पीड़ित एक चूहा मारा-मारा फिर रहा था। कितनी हंसी आती है यह सुन कर कि चूहे के पेट में भी चूहे दौड़ रहे थे।  तभी उसे एक गुफा की तरफ से मांस की गंध आयी। बस फिर क्या था, लपककर गुफा में पहुँच गया।  वहां पहुंचने पर उसने […]

» Read more

मूर्तिकार – Sculptor

नदी किनारे बसे छोटे से गाँव में एक मूर्तिकार अपने परिवार के साथ रहता था। उसके परिवार में थी उसकी पत्नी और एक प्यारी सी बिटिया। दिन भर मूर्तियां बनाता और शाम को नदी किनारे टहलते हुए मीलों दूर निकल जाता।  ठंडी ठंडी हवा के झोंके और चारों तरफ फैली हरियाली […]

» Read more

गरीब लड़की की उदारता-Kid Story

  एक गाँव में एक साहूकार अपने परिवार के साथ रहता था। परिवार में उसकी पत्नी, एक बेटी और एक बेटा थे। शानदार बंगला, नौकर-चाकर, गाड़ियाँ और सब शानो-शौकत का सामान था उसके पास।    गरीब लोगों को बहुत ज्यादा सूद पर कर्जा देना उसका धंदा था। अक्सर लोग तंगी […]

» Read more

शरारती रिंकू

रिंकू स्कूल से वापिस लौटा ही था कि उसकी मम्मी ने उसे बुलाकर खूब डांटा। पास वाली आंटी ने उन्हें बताया था कि कल रिंकू ने उनके बेटे के हवाई जहाज़ वाले खिलोने को तोड़ दया था। रिंकू की माँ भी उसकी इस आदत से तंग आ चुकी थी। आए […]

» Read more

गर्मी की छुट्टियाँ – Summer Vacations

ये तो कमाल हो गया। खाने की टेबल पर बैठे ही थे कि पापा का धमाल हो गया। ना जाने आज ऑफिस में उन्हें तरक्की मिली थी या बोनस मगर हम दोनों भाई बहनो की तो निकल पड़ी थी।  हर साल हम अपनी गर्मी की छुट्टियां नानी के घर बिताते थे। दिल्ली […]

» Read more

साहस की जीत

जँगल के सारे छोटे जानवर शेर से परेशान थे। अपने को उनका राजा कहने वाला शेर सब पर अपना रोब दिखता। जब भी भूख लगती किसी ना किसी जानवर को मार कर खा जाता।  सारे जानवरों ने एक दिन अपनी सभा बुलाई। उस सभा में सबने अपने साथ बीती दुखद घटना को भी […]

» Read more

कंजूस पति-पत्नी

एक शहर में बहुत ही कंजूस पति-पत्नी रहते थे। कंजूस इतने कि हर रात खाने के वक़्त किसी न किसी दोस्त या रिश्तेदार के घर पहुँच जाते। औपचारिता दिखाते हुए पूछे जाने पर कि क्या वह दोनों भोजन करेंगे,तो झट से  उनके साथ  खाने पर बैठ जाते।  अपनी छुट्टियां मनाने […]

» Read more

दन्त परी – Tooth Fairy

 घर का सारा काम निबटा कर मैं लेटी ही थी कि मेरी बेटी मुनमुन रोती चिल्लाती मेरे कमरे में भागी आयी। मैं भी हड़बड़ा कर उठी और उसे गोद में उठा सीने से चिपका कर पुछा  ” क्या हुआ मुनमुन, रो क्यों रही हो।”  उसको चुप कराने के चक्कर में […]

» Read more

असली दोस्त की पहचान

जैसे जैसे दोनों दोस्त आगे बढ़ते जा रहे थे उन्हें महसूस हो रहा था कि जंगल और भी ज्यादा घाना हो रहा था। मगर करते क्या, दोनों उस घने जंगल में अपना रास्ता भटक गए थे। जंगल से बाहर निकलने का मार्ग दिख ही नहीं रहा था।  कुछ कदम और […]

» Read more

आलसी आदमी

  बच्चों! आज हम आप सब को एक आलसी आदमी की कहानी सुनते हैं।  यह अलसी व्यक्ति एक गाँव में रहता था। इतना आलसी था कि कई कई दिन तक नहाता भी नहीं था। मगर पेट तो रोज़ भोजन माँगता है। लेकिन उस आलसी व्यक्ति के मन में था कि भगवान […]

» Read more
1 2 3 5