एक से भले दो – Man’s best friend-Dog

एक से भले दो

किसी काम से एक आदमी को दूसरे गाँव जाना था। गाँव दूर था और रास्ता जँगल से हो कर जाता था। डर तो उसे लग रहा था पर जाना ज़रूरी था। 
 

 
चलने लगा तो उसकी माँ ने कहा कि अकेले मत जाओ, साथ में अपने doggy शेरू को ले जाओ। पहले तो वो माना नहीं पर माँ के कहने पर मान गया और शेरू को साथ ले गया। 
 

 
दोनों चलते हुए जब घने जँगल में पहुँचे तो शाम होने को थी और दोनों बहुत थक चुके थे। सो दोनों थक कर एक पेड़ के नीचे बैठ गए। कुछ देर में आदमी गहरी नींद में सो गया। शेरू भी आँखें बंद किए सुस्ताने लगा। 
 

 
जिस पेड़ के नीचे दोनों आराम कर रहे थे उस पेड़ पर एक जहरीला साँप रहता था। आदमी को देख साँप अपने बिल में से निकला और उस पर वार करने ही वाला था। तभी शेरू चौकन्ना हो गया और वो सांप पर टूट पड़ा। अपने तीखे दाँतो से काट कर उसने साँप को मार डाला और अपने मालिक की जान बचाई। 
 

 
कुछ देर बाद जब आदमी की आँख खुली और उसने देखा कि साँप मरा पड़ा था। वो समझ गया कि शेरू ने उसकी रक्षा की। शेरू को प्यार से उसने गले लगा लिया। 
 

 
 
बच्चों ! इससे हमें यह शिक्षा मिलती है कि अपने माता पिता की बातों को ध्यान से सुनो और उनकी बात मानो। वो हमेशा तुम्हारा अच्छा ही चाहेंगे। 


हमारी साइट ब्राउज़ करें

[table “48” not found /]

Your comments encourage us