हवाई यात्रा – Story for small kids

 

हवाई यात्रा – Air Travel

airplane-145889_640

 

हवाई जहाज जब नीता के घर के ऊपर से जा रहा था तो वह सोचने लगी काश! मैं भी आकाश में ऐसे ही उड़ सकूँ। आसमान में उड़ना कितना अच्छा लगता होगा। सफ़ेद बादल, ठंडी ठंडी हवा और पक्षी की तरह उड़ना।

फिर एक दिन मम्मी पापा उसे हवाई जहाज में सैर करवाने ले गए।  जब जहाज ऊपर आसमान में पहुँचा तो नीता के मन में आया कि बादलों को छू ले। जब उसने हवाई जहाज़ की खिड़की से नीचे देखा तो बड़े बड़े पेड़ सिर्फ पौधे लग रहे थे और लोग चींटी की तरह दिख रहे थे।

 

आसमान में उड़ती नीता सपनों में खो गयी और नींद की गोद में सो गयी।

 

>>>>>>>>>>>>> Go to → बच्चों की हिंदी कहानियाँ <<<<<<<<<<<<<

Also Read:

 

Your comments encourage us

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.