हिंदी मुहावरे – Hindi Muhavare – ब

“ब” से शुरु होने वाले हिंदी मुहावरे
Hindi Muhavare (Proverbs) starting with “ब”

 

बुद्धि घास चरने जाना – अकल चली जाना –
तुम्हारी बुद्धि क्या घास चरने गयी थी जो इतना महंगा सौदा कर लिया। 
बाएँ हाथ का खेल – आसान काम –
तैर कर इस नदी को पार करना तो मेरे बाएँ हाथ का खेल है। 
बगले झांकना – जवाब न दे पाना –
सुरेश तो बिलकुल बेवकूफ है, जब भी कुछ पूछो तो बगले झाँकने लगता है। 
बल्लियों उछलना – बहुत खुश होना –
सुनीता की शादी पक्की होने पर उसका मन बल्लियों उछलने लगा। 
बाल की खाल निकलना – बेवजह आलोचना करना –
तुम कोई भी प्रस्ताव गिरीश के सामने रख दो, बस उसकी खाल निकालना शुरू कर देगा। 
बटटा लगाना – बदनाम करना –
हिंसा की घटना में शामिल हो अरविन्द ने अपने परिवार की इज्जत पर बटटा लगा दिया। 
बाग़-बाग़ होना – खुश होना –
पहाड़ों पर बादलों को उड़ता देख मेरा दिल बाग़-बाग़ हो गया। 
बाजी मारना – आगे निकलना –
आखिरी समय पर थोड़ा ज्यादा दम लगा विजय ने रेस में बाजी मार ली। 
बाल भी बांका न होना – कुछ भी न बिगड़ना –
भगवान का धन्यवाद करो जो इतने बड़े हादसे में भी तुम्हारा बाल भी बांका न हुआ। 
बहती गंगा में हाथ धोना – अवसर का फायदा उठाना –
दल बदलू नेता अक्सर जहाँ फ़ायदा हो वहाँ बहती गंगा में हाथ धो लेते हैं। 
बाल-बाल बचना – साफ़ बच जाना –
रमेश की कार पर पेड़ तो गिरा लेकिन वह बाल-बाल बच गया। 

Also Read:


Your comments encourage us