हिंदी मुहावरे – Hindi Muhavare – ढ

“ढ” से शुरु होने वाले हिंदी मुहावरे
Hindi Muhavare (Proverbs) starting with “ढ”

 

ढाक के तीन पात – कोई विशेष गुण न होना –
इतना पढ़ा लिखा होने के बाद भी नरेश तो ढाक के तीन पात निकला। 
ढोल पीटना – विख्यात होना –
भारतीय सैनिकों की गौरव पूर्ण गाथाएँ दुनिया भर में उनका ढोल पीट रही हैं। 

>>>>>>>>>>>>>>>>>>>> Go back to Index of Muhavare >>>>>>>>

 

Also Read:


Your comments encourage us