हिंदी मुहावरे – Hindi Muhavare – च

“च” से शुरु होने वाले हिंदी मुहावरे
Hindi Muhavare (Proverbs) starting with “च”

चिराग लेकर ढूँढ़ना – मुश्किल से मिलना –
अपने से ज्यादा देश का हित सोचने वाले लोग तो चिराग लेकर ढूँढ़ने से भी नहीं मिलते।

चिराग तले अँधेरा – आवश्यक गुण का अभाव –
पिता प्रोफेसर और बेटा फेल हो जाए तो ऐसा लगता है मानो चिराग तले अँधेरा।

चैन की बंसी बजाना – बेफिक्र होकर रहना –
30 साल की नौकरी के बाद रिटायर होने पर जैन साहिब चैन की बंसी बजा रहे हैं।

चिकना घड़ा – जिस पर कुछ असर न हो –
सुधीर तो बिलकुल चिकना घड़ा है, कितना भी समझा दो मगर सुनता ही नहीं।

चोली-दामन का साथ – घनिष्ठ रिश्ता –
परिश्रम और सफलता में तो चोली-दामन का साथ है।

चादर से बाहर पैर पसारना – आय से ज्यादा खर्चा करना –
उधार लेकर अय्याशी करना तो चादर से बाहर पैर पसारना होता है।

चुल्लू भर पानी में डूब मरना – अत्यंत निंदनीय कार्य –
घूसखोरों को तो चुल्लू भर पानी में डूब मरना चाहिए।

चूड़ियाँ पहनना – कायरता दिखाना –
देश के दुश्मनों को जवाब तो वही दे सकते हैं जिन्होंने चूड़ियां न पहनी हों।

चेहरे की हवाइयाँ उड़ना – डर जाना –
रंगे हाथों पकड़े जाने पर चोर के चेहरे की हवाइयाँ उड़ने लगी।

चार चाँद लगाना – प्रतिष्ठा बढ़ाना –
बोर्ड की परीक्षा में फर्स्ट आकर एक छात्र ने हमारे स्कूल की प्रतिष्ठा में चार चाँद लगा दिए।

चीटियों के पर निकलना – छोटे व्यक्ति का घमंड करना –
चुनाव जीतते ही नेताजी के परिवार की चीटियों के भी पर निकल आये।

>>>>>>>>>>>>>>>>>>>> Go back to Index of Muhavare >>>>>>>>

 

Also Read:


Your comments encourage us