स्वच्छ भारत अभियान-Swachh Bharat Abhiyan

अनुच्छेद – ‘ स्वच्छ भारत अभियान ‘

रुपरेखा : स्वच्छता अभियान की शुरुआत – अभियान से जुड़े कार्य – अपना योगदान 

2 अक्टूबर, 2014 को बापू की समाधी राजघाट से इस स्वच्छ भारत अभियान को शुरू किया गया था। इस अभियान में सरकारी कर्मचारी, मंत्री, छात्र, शैक्षिक और औद्योगिक संस्थानों ने बढ़ चढ़ कर भाग लिया।
सफाई को सिर्फ अपने घर, दुकान या दफ्तर तक सीमित न रख कर अपने बाहरी वातावरण को भी स्वच्छ बनाना चाहिए। इस स्वच्छ भारत अभियान का मुख्य उद्देश्य सड़कों, शहरों, गांव, शैक्षिक और औद्योगिक संस्थानों इतियादी की सफाई करना है। हर घर में शौचालय हो ताकि हम अपने वातावरण को स्वच्छ और सेहतमंद बना सकें। द्रव्य और अपशिष्ट (waste) को कुशलतापूर्वक तरीकों से निपटना और हर घर में स्वच्छ पीने के पानी को उपलब्ध कराना।
इस अभियान को सफल और कारगर बनाने के लिए बहुत सी बड़ी-बड़ी हस्तियों ने इस में आगे बढ़ कर सहायता की। देश के लाखों छात्रों, युवा-युवतियों ने अपना योगदान देकर इसे देश के हर कोने में पहुँचाया। हमें याद रखना चाहिए, कि इस स्वच्छ भारत अभियान सिर्फ सरकार का नहीं बल्कि हम सब का दायित्व है। हमारे आस-पास किसी तरह की गन्दगी हमें बीमार कर सकती है। नाक मुँह सिकोड़ कर आंखें बंद कर लेने से गंदगी गायब नहीं होगी, उसके लिए हमें खुद आगे बढ़ कर उसे दूर करना होगा। 
आओ! हम सब प्रण करें कि इस देश को स्वच्छ बनाने में हम अपना पूरा योगदान देंगे। 

Also Read:


Your comments encourage us

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.