सफलता पाने के 4 टिप्स-Motivational Tips

सफलता सिर्फ आपके काम काज से ही नहीं जुड़ी होती, सफलता का महत्व तो हर उस छेत्र में होता है जहाँ भी आप उन्नति करना चाहते हों। 

सफलता के दरवाजे खुद ही नहीं खुल जाते, उन्हें खोलने के लिए एक मजबूत नियोजन (Robust Planning) की आवश्यकता होती है। मैं आपको अपने निजी अनुभव के आधार पर कुछ टिप्स दे रहा हुँ, और आशा करता हुँ कि आप इन टिप्स से लाभ उठाएँगे। मैंने खुद इन विचारों को अपने जीवन में आजमाया है और इनका महत्व आप इन्हे अपना कर ही समझ सकते हैं। 

तथ्य जुटाना – Fact Finding 

किसी भी कार्य को शुरू करने से पहले उस कार्य के बारे में पूरी तरह से जानकारी हासिल करें, अपने दोस्तों से पूछें, उस कार्य के माहिर किसी सलाहकार से परामर्श करें, जहाँ भी हो सके निजी तोर पर पूरी छान बीन करें। यह सब करने के बाद जो तथ्य (Facts) आपके सामने आएं उन पर ध्यान दें और अपने फैसले सिर्फ उन्ही तथ्यों के बल पर करें। उस कार्यछेत्र में ये तथ्य आपको दूसरों के मुकाबले सबसे आगे रहने का मौका देंगे। सुनी-सुनाई या उड़ती खबरों से सावधान रहें, वो आपके असली मुद्दों से भटका सकती हैं। अपने जो facts मेहनत से इकट्ठे किए हैं उन्ही पर विशवास करें। 

योजना सूची बनाएँ – Planning List 

तथ्य जुटा लिए और आप सन्तुष्ट (Satisfied) हैं कि यही काम करना है। बहुत बढ़िया !! जब आपका मन बन जाए तो अपना पूरा ध्यान उस कार्य की योजना (Planning) बनाने में लगा दीजिए। जितने योजनाबद्ध तरीके से आप चलेंगे उतने ही जल्दी सफलता प्राप्त होगी। योजना बनाने का आसान तरीका है उसे एक कागज पर लिखना, जो भी नया कुछ दिमाग में आए या कहीं से भी पता चले, उसे बस कागज पर उतार लो। इस तरह से एक किसम की योजनाओं की सूची सी बन जाएगी जो आपके पास हमेशा रहेगी। योजना सूची होने का सबसे बड़ा फैयदा होगा, आप अचानक (Unexpected) खर्चों से बचेंगें और भविष्य में आने वाले हर वित्तीय व्यय (Financial Expenditure) के लिए पहले से ही इंतज़ाम कर लेंगे। 

इस तरह की योजना सूची आपको सिर्फ काम काज में नहीं बल्कि निजी जीवन में भी फायदा देगी। अपनी कमाई और खर्चों का हिसाब देगी और आगे आने वाले खर्चों की सूचना भी देगी। 

गुरु की तलाश करें – Find an Ideal 

व्यवसाय (Business) हो या रोजगार (Employment), पढाई (Studies) हो या निजी जीवन (Personal Life) आपने देखा होगा कि जीवन के हर मोड़ पर आपको ऐसे इंसान मिल जाएंगे जो सफलता की दौड़ में सबसे आगे होते हैं। बस इन्ही में से आपको भी एक गुरु (Mentor) चुनना है और उसके आदर्शों (Ideals) का अनुसरण (Follow) करना है। उसके द्वारा अपनाए हर तौर तरीके का ध्यान से अध्यन (Study) करना है। उनके द्वारा किए गए हर कार्य की गहरी छान बीन करनी है, उनके कहे वचनों को मगन हो सुनना है।  सोचो, अगर ये इंसान इतना सफल हो गया है तो जो रस्ते उसने चुने होंगे वह सब सही निकले तो हमें भी उनके चले रस्ते पर चलना है। सफलता पाने के लिए किसी को अपना आदर्श मानना आपके सफलता के मार्ग और सरल बना देगा। लोगों का यह कह देना की “तुम तो उसके चमचे हो” से कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता, न ही इसमें कोई शर्म की बात है। उलटे तुम खुद सबको बोल सकते हो कि तुम उस इंसान के नक़्शे-क़दमों पर चल रहे हो क्योंकि वो इस field का master है।  

सुझाव मिले, तो उसका स्वागत करें – Welcome suggestions 

अपनी मेहनत और सूझ बूझ दर्शाते हुए एक कार्य शुरू किया। आप किसी हद तक उसमें सफल भी हो रहे हैं। मगर हमेशा याद रखें कि ये सफलता का अंत नहीं है, अभी बहुत आगे बढ़ना है। आगे बढ़ने की सूची में बहुत ही महत्वपूर्ण कड़ी होती है सुझाव। जीवन भर लोग सुझाव देते रहते हैं लेकिन हम सिर्फ उन सुझावों को याद रखते हैं जो फायदे मंद हो। बस इतना याद रहे, हमेशा उन सुझावों के लिए तत्पर रहना चाहिए, न जाने कब कोई मनपसन्द सुझाव मिल जाए। और अगर आवश्यकता पड़े तो किसी परामर्शदाता (Consultant) से भी सुझाव ले सकते हैं। 

दोस्तों, सफलता पाने के सब इच्छुक (Keen) होते हैं लेकिन उस इच्छा को पूरा करने के लिए नियम, कड़ी मेहनत और सूझ बूझ का रास्ता ही अपनाना चाहिए। 

 

यह उन्नति की ओर आगे ले जाने वाला व्यक्तित्व विकास का लेख आपको कैसा लगा?
कृपया कमेन्ट के माध्यम से अपने ideas शेयर करें। 

यदि आप हिंदी में कोई article, motivational/inspirational story लिखते हैं और हमारी वेबसाइट पर पब्लिश करवाना चाहते हैं तो कृपया उसे Email करें। पसंद आने पर हम उसे आपके नाम सहित प्रकाशित करेंगे। अपना लेख इस ईमेल पर भेजें  hinditeacheronline@gmail.com 

 

Also Read:


Your comments encourage us